Thursday, September 26, 2013

30th

For her, to whom this day really belongs, 

माँ तो अब भी वैसे ही पालती है हमें 
लोग ये कहते हैं हम आज तीस के हुए